वैरिकोज नसों के लिए घरेलू उपचार

वैरिकोज नसों के लिए घरेलू उपचार

वैरिकोज नसों के लिए घरेलू उपचार

About Dr.Girish

Urologist, Blogger

 

problem varikose veins

वैरिकोज नसों की बीमारी एक आम समस्या है जिसमें असामान्य रूप से बढ़ी नसें त्वचा की सतह के करीब दिखाई देने लगती हैं। ये नसों की दीवारें कमजोर पड़ जाने या उनमें स्थित खून के बहाव को नियंत्रित करने वाले वाल्व के ठीक से काम करना बंद कर देने के कारण आमतौर पर पिंडलियों और जांघों में पैदा हो जाती हैं।

संयुक्त राज्य अमेरिका के स्वास्थ्य और मानव सेवा विभाग के अनुसार वैरिकोज नसों की बीमारी से अनुमानतः 25 प्रतिशत महिलाएं और 10 प्रतिशत पुरुष प्रभावित हैं।

इसमें दर्द, थकान, बेचैनी, और पैरों में जलन सहित स्पंदन, सिहरन या भारीपन महसूस हो सकता है। उभरी हुई नसों का प्रकट होना भी कई लोगों के लिए एक चिंता का विषय है।

वैरिकोज नसों के सामान्य कारकों में आनुवंशिकता, ऐसे व्यवसाय जिनमें बहुत ज्यादा देर तक खड़े रहने की ज़रूरत होती है, मोटापा, जन्म नियंत्रण गोलियों का सेवन, कब्ज और शरीर में गर्भावस्था के दौरान होने वाले हार्मोन संबंधी परिवर्तन, यौवनारंभ और रजोनिवृत्ति शामिल हैं।

वैरिकोज नसों के लिए चिकित्सा और शल्य चिकित्सा उपचार बहुत महंगे हो सकते हैं। आप वैरिकोज नसों की गंभीरता के साथ-साथ उससे जुड़ी कुछ पीड़ाओं को भी कम करने के लिए कुछ घरेलू उपचारों को आजमा सकते हैं।

वैरिकोज नसों के लिए शीर्ष 10 घरेलू उपचार यहां दिए गए हैं।

signs of varicose veins

 

एक नई क्रीम का प्रयास करें

 

1. सेव के आसव का सिरका (Apple Cider Vinegar)

Apple Cider Vinegar

सेव के आसव का सिरका वैरिकोज नसों के लिए एक अद्भुत उपचार है। यह एक प्राकृतिक रूप से शरीर की सफाई करने वाला उत्पाद होने के साथ ही खून के बहाव और परिसंचरण में भी सुधार करता है। खून का स्वाभाविक बहाव बहाल हो जाने पर वैरिकोज नसों का भारीपन और सूजन काफी हद तक घट जाता है।

  • सेव के आसव के सिरके को पानी मिलाये बिना वैरिकोज नसों वाली त्वचा पर लगाएं और धीरे-धीरे उस जगह की मालिश करें। रात को सोने से पहले और फिर सुबह में इस प्रक्रिया को रोज दोहरायें। वैरिकोज नसों के आकार को कम करने के लिए कुछ महीनों तक इस उपचार को जारी रखें।
  • एक गिलास पानी में दो चम्मच सेव के आसव का सिरका मिलाकर उसे अच्छी तरह से फेंट लें। सकारात्मक परिणाम के लिए कम से कम एक महीने तक दिन में दो बार यह मिश्रण पीते रहें।

2. लाल मिर्च (Cayenne Pepper)

Cayenne Pepper

लाल मिर्च को वैरिकोज नसों के लिए एक चमत्कारी उपचार माना जाता है। विटामिन C और बायोफ्लावोनॉयड्स का एक बहुत समृद्ध स्रोत होने के कारण, यह खून के बहाव को बढ़ाता है और संकुलित एवं सूजी हुई नसों के दर्द को कम करता है।

1. एक कप गर्म पानी में एक चम्मच लाल मिर्च का पाउडर मिलाकर उसे अच्छी तरह से फेंट लें।

2. इस मिश्रण को एक या दो महीनों तक दिन में तीन बार पीएं।

3. जैतून का तेल

वैरिकोज नसों के इलाज के लिए खून के बहाव को बढ़ाना आवश्यक है। जैतून के तेल की मालिश करने से इसमें वृद्धि हो सकती है, जिससे दर्द और सूजन में स्वतः ही कमी आ जाएगी।
  • जैतून का तेल और विटामिन E युक्त तेल को बराबर मात्रा में मिलाकर थोड़ा गर्म कर लें। इस गर्म तेल से कई मिनटों तक उन नसों की मालिश करें। इस प्रक्रिया को एक से दो महीनों तक रोजाना दो बार दोहराएं।
  • आप दो चम्मच जैतून के गर्म तेल में सरो के आसव से बने तेल (cypress essential oil) की चार बूंदें मिलाकर बने मिश्रण से भी मालिश कर सकते हैं।

4. लहसुन

लहसुन सूजन को कम करने और वैरिकोज नसों के लक्षणों के लिए एक उत्कृष्ट जड़ी बूटी है। यह रक्त वाहिकाओं में हानिकारक विषैले पदार्थों को विघटित करने के अलावा खून के बहाव में सुधार लाने में भी मदद करता है।

1. लहसुन की छह कलियों को टुकड़ों में काटकर एक साफ शीशे के जार में डाल दें।

2. फिर उसमें तीन संतरों का ताजा रस और दो चम्मच जैतून का तेल मिला दें।

3. इस मिश्रण को लगभग 12 घंटे तक यूँ ही पड़े रहने दें।

4. जार को अच्छी तरह से हिला लेने के बाद इस घोल की कुछ बूंदें अपनी उंगलियों पर डाल लें। फिर 15 मिनट तक हाथ को गोल-गोल घुमाते हुए सूजी हुई नसों की मालिश करें।

5. एक सूती कपड़े से पैर के उस भाग को लपेटकर रात भर वैसे ही छोड़ दें।

6. इस प्रक्रिया को कई महीनों तक प्रतिदिन दोहराएं।

इसके अलावा, अपने आहार में ताजे लहसुन को शामिल करें।

5. कसाई का झाड़ू (Butcher’s Broom)

कसाई का झाड़ू (Butcher’s Broom = कुमुदिनी परिवार की एक सपाट टहनियों और कांटेदार पत्तों वाली कम उंचाई की सदाबहार यूरेशियन झाड़ी) वैरिकोज नसों के दर्द और पीड़ाओं से मुक्ति पाने के लिए बहुत ही उपयोगी है। इस जड़ी बूटी में रस्कोजेनिन (ruscogenins) नामक यौगिक होते हैं जो अपनी सूजनरोधी और एंटी-इलास्टेस (anti-elastase) गतिविधियों के कारण नसों को संकुचित करने के साथ ही सूजन को भी कम करने में मदद करते हैं।

कसाई के झाड़ू से बने अनुपूरक खुराक का 100 मिलीग्राम दिन में तीन बार लें। कसाई के झाड़ू के पौधे की जड़ों और बीजों से बनाये गये इस अनुपूरक खुराक में कैल्शियम, क्रोमियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज, पोटेशियम, सेलेनियम, सिलिकॉन और जिंक के अलावे विटामिन B और C भी मौजूद होते हैं।

ये पोषक तत्व नसों में कसावट लाने और उन्हें मजबूती देने के अलावे उनमें आई सूजन को कम करने में भी मदद करेंगे, और साथ ही पैरों में खून के बहाव को भी सुधारेंगे।

नोट: उच्च रक्तचाप या सौम्य प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया (benign prostate hyperplasia) वाले लोगों को डॉक्टर से परामर्श किए बिना यह जड़ी बूटी नहीं लेनी चाहिए।

6. विच हेज़ेल विच हेज़ेल रक्त वाहिकाओं को मजबूत करने के लिए एक बहुत ही प्रभावी जड़ी बूटी है और इसलिए वैरिकोज नसों के लक्षणों को कम कर सकती है। एक स्तंभक होने के अलावा, इसमें गैलिक एसिड (gallic acid) और कई आवश्यक तेल भी होते हैं जो सूजन के साथ-साथ दर्द को भी कम करने में मदद कर सकते हैं।

Hazel Witch Hezel

  • विच हेज़ेल (के आसव) में एक खीसे (कपड़े) को भिगो लें और इसे पैर के प्रभावित भाग पर रख दें। एक-दो महीने तक इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराएं।
  • वैकल्पिक रूप से, एक गर्म पानी से भरे टब में आसुत विच हेज़ेल (के आसव) की 10 से 20 बूंदें मिला दें। इस घोल में अपने पैरों को कम से कम 15 मिनट तक डुबाकर रखें। फिर अपने पैरों को साफ पानी से धो लें और उन्हें तौलिये से थपथपा कर सूखा लें। एक-दो महीने तक इस उपचार का प्रतिदिन पालन करें।

 

Ingredients varikostop

 

एक नई क्रीम का प्रयास करें

वैरिकोज नसों के लिए घरेलू उपचार
3.3 (66.67%) 12 votes

Related Posts

क्या HAMMER OF THOR की गोलियाँ यौन क्षमता बढ़ाने और आपके यौन संबंधों में सुधार के लिए प्रभावशाली हैं?

क्या HAMMER OF THOR की गोलियाँ यौन क्षमता बढ़ाने और आपके यौन संबंधों में सुधार के लिए प्रभावशाली हैं?

30 से कम उम्र के 10% पुरुष और 30 से अधिक उम्र का लगभग हर दूसरा पुरुष अपनी यौन क्षमता
भारत में Xtra Man क्रीम

आज ही एक बड़ा लिंग कैसे प्राप्त करें: सर्जरी के बिना अपने लिंग का आकार बढ़ाने के तीन आसान तरीके

मर्दानगी के इन तीन सरल नुस्खों के माध्यम से कुछ ही पलों में अपने लिंग की लंबाई को बढ़ाएं। इस
यौन बाध्यता (लत) को कैसे कम किया जाए

यौन बाध्यता (लत) को कैसे कम किया जाए

सेक्स – अगर वह आपसी सहमति से हो तो स्वाभाविक और खूबसूरत होता है और उसमें कोई समस्या न होती।
सेक्स से अधिकतम आनंद कैसे प्राप्त करें

सेक्स से अधिकतम आनंद कैसे प्राप्त करें

सेक्स प्राकृतिक है लेकिन उतना सहज नहीं है जितना लगता है। यह नज़दीकी लिंग के योनि में भेदन और उसे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *