छोटे आकार के लिंग के लिए श्रेष्ठ 7 सेक्स मुद्राएं

छोटे आकार के लिंग के लिए श्रेष्ठ 7 सेक्स मुद्राएं

छोटे आकार के लिंग के लिए श्रेष्ठ 7 सेक्स मुद्राएं

About Charles Howard

Doctor, Sex counselor

पुरुषों को काफी लंबे समय से अपने लिंग के आकार के बारे में संवेदनशील महसूस करने के लिए बाध्य किया गया है! आप मानें या न मानें यह लोकोक्ति सच है कि (लिंग के) आकार से कोई फर्क नहीं पड़ता, बल्कि मायने यह रखता है कि आप इसका इस्तेमाल कैसे करते हैं। लिंग के बड़े होने मात्र से संभोग बेहतर नहीं होता, और लिंग के छोटे होने से ही किसी का सेक्स लाइफ नीरस नहीं हो जाता। हर बार अपने संभोग सत्र को तूफानी आनंद से भरने की कुंजियाँ हैं रचनात्मकता, दिमाग का खुलापन और उन मुद्राओं का पता लगाना जो शरीर के सभी सुख बिंदुओं की उत्तेजना को अधिकतम करते हुए एक गहरा भेदन प्रदान कर सके।

शोध से पता चला है कि औसत लिंग का आकार 5.5-6.5 इंच के बीच होता है जबकि जी-स्पॉट योनि के अंदर अधिकतम 3 इंच ही होती है। योनि का सबसे संवेदनशील क्षेत्र उसके 1-2 इंच अंदर ही होती है। इससे यह साबित होता है कि चाहे आपके लिंग का आकार कितना ही छोटा क्यों न हो, तूफानी कामोन्माद को पाना हमेशा संभव है। यहां छोटे लिंग वाले पुरुषों के लिए सबसे बेहतरीन सेक्स मुद्राओं की एक सूची दी गई है।

संशोधित मिशनरी या मैथुनिक संरेखण तकनीक

The Modified Missionary or Coital Alignment Technique

यह तकनीक एक अंतर को छोड़कर सामान्य मिशनरी शैली जैसी ही दिखती है। जब आप श्रोणि से श्रोणि को मिला रहे होते हैं, तो भेदन से पहले कुछ सेंटीमीटर ऊपर की ओर खिसक जाएं। लिंग के योनि के अंदर पहुँच जाने पर उसे अंदर और बाहर फिसलाने के बजाय उसे रगड़ते हुए ऊपर और नीचे हिलाएं। लिंग का आधार भग-शिश्न में अतिरिक्त उत्तेजना पैदा करता है। मिशनरी शैली बहुत अंतरंग है, इसमें मरोड़ पैदा करने से यह “प्यार में डूबे होने” के अहसास को बनाए रखने के साथ ही परिणामी आनंद को भी बढ़ाने में मदद करती है।

कुत्तों वाली शैली

Doggy Style

कुत्तों वाली शैली ऐसे कई तरीके देता है जिनके माध्यम से आप अधिकतम आनंद के लिए अपने संभोग सत्र को ठीक तरह से सुव्यवस्थित कर सकते हैं। आदर्श रूप में, जब महिला आगे की ओर झुककर अपने पैरों को दबाती है, तो उसके योनि का दरार छोटा हो जाता है, जिससे गहरे भेदन में मदद मिलती है। यह पुरुष को नियंत्रण में होने की भावना देता है, जबकि महिला को दोनों पक्षों की सनसनी को बढ़ाने के लिए अपनी श्रोणि तल की मांसपेशियों को कस लेने का मौका देता है। कहने की जरूरत नहीं है कि यह कुत्तों वाली शैली पुरुष के हाथों को बिलकुल खाली छोड़ देती है जिनसे वह सीधे या वाइब्रेटर के माध्यम से महिला के भग-शिश्न की मालिश कर सकता है।

उपर में महिला

Woman on Top

यह पद्धति विशेष रूप से अनुकूल है क्योंकि इसमें ज्यादातर भारोत्तोलन महिला करती है। चूंकि किसी भी पुरुष की तुलना में महिला अपने शरीर को बेहतर समझ सकती है, उसके संभोग सत्र पर नियंत्रण ले लेने से लगभग हमेशा ही श्रेष्ठ कामोन्माद प्राप्ति की गारंटी हो जाती है। इसके वास्तविक विधि में महिला पुरुष पर चढ़ जाती है और उसके खड़े लिंग पर खुद को धीरे धीरे झुकाती है। वह भेदन की गहराई और कोण को नियंत्रित करने में सक्षम होती है। यह शैली भग-शिश्न पर भी दबाव डालने में मदद करती है जो यौन उत्तेजना के स्तर को बढ़ाता है। इसमें पुरुष स्तनों की मालिश करने और आंखों के संपर्क को कायम रखने में सक्षम होता है, जो काफी उत्तेजक हो सकता है।

उल्टी घुड़सवारी

Reverse Cowgirl

उल्टी घुड़सवारी में महिला उपर होती है, लेकिन दोनों आमने-सामने होने के बजाय, महिला मर्द की ओर पीठ करके बैठती है। यह तकनीक महिला के स्तनों को थोड़ा सा खेलने का मौका देती है। यदि आप संभोग के शरारती पक्ष में गिर जाते हैं, तो यह उल्टी घुड़सवारी थप्पड़ मारने के लिए भी एकदम सही है। उल्टी घुड़सवारी का एक और प्रकार है, जिसमें महिला रगड़ लगाने और उछलने के लिए पुरुष के उपर पुरी तरह से उकडूँ होकर बैठ जाती है, जबकि पुरुष उसके नीचे के अंगों को समर्थन देता है।

घोंघा मुद्रा

The Snail

घोंघा मुद्रा में महिला पीठ के बल लेटकर अपने घुटनों को छाती तक समेट लेती है। पुरुष को उसके सामने घुटने टेककर बैठना होता है। जैसे ही संभोग शुरू होता है, महिला अपने पैरों को साथी के कंधों पर चढ़ा देती है। जबकि पुरुष के हाथ सहारे के लिए महिला के कंधों के दोनों तरफ होने चाहिए। यह स्थिति गहरे भावनात्मक यौन संबंध के लिए बहुत ही अच्छी है क्योंकि इसमें आंखों के संपर्क की बहुतायत होती है और भेदन भी काफी गहरे होते हैं।

बांस विभाजन मुद्रा

The Splitting Bamboo

बांस विभाजन मुद्रा में महिला पीठ के बल लेटकर अपने एक पैर को हवा में उठा देती है। उसका साथी उसके दोनों ओर पैर करके उसकी जांघ पर बैठ जाता है और उसके उठाए गए पैर को अपने कंधे पर टेक दे देता है। यह स्थिति लिंग को ठीक से योनी के अन्दर पहुंचने में मदद करती है। आप पाएंगे कि उठाए गए पैर को सीधा करने के लिए आप उस पर जितना अधिक दबाव डालते हैं भेदन उतना ही गहरा होता है। भग-शिश्न और स्तनों की गुदगुदी शुरू करने के लिए भी काफी मौक़ा रहता है।

तितली मुद्रा

The Butterfly

यह शैली तितली जैसी बिल्कुल नहीं है। यह एक जबरदस्त कसरत है। एक सपाट सतह खोज लें और उस पर महिला को उसकी पीठ के बल ऐसे लेटा दें कि उसका नितंब उस सतह के एक किनारे पर स्थित हो जाए। उसके दोनों पैरों को उठाकर अपने कंधों पर डाल लें। फिर महिला को अपने श्रोणि को आपके निर्दिष्ट क्षेत्र तक उठाना चाहिए। अपने हाथों से उसके नितंब को सहारा देते हुए, अपने लिंग को बिलकुल सही ढंग से अन्दर डालें। स्पर्श होते ही सनसनी बढ़ाने के लिए महिला अपने कूल्हों को घुमा सकती है और अपनी जांघों को मजबूती से दबा सकती है।

छोटे आकार के लिंग के लिए श्रेष्ठ 7 सेक्स मुद्राएं
3.6 (71.67%) 12 votes

Related Posts

यौन बाध्यता (लत) को कैसे कम किया जाए

यौन बाध्यता (लत) को कैसे कम किया जाए

सेक्स – अगर वह आपसी सहमति से हो तो स्वाभाविक और खूबसूरत होता है और उसमें कोई समस्या न होती।
सेक्स से अधिकतम आनंद कैसे प्राप्त करें

सेक्स से अधिकतम आनंद कैसे प्राप्त करें

सेक्स प्राकृतिक है लेकिन उतना सहज नहीं है जितना लगता है। यह नज़दीकी लिंग के योनि में भेदन और उसे
लिंग के आकार को बढ़ाने का एकमात्र वास्तविक तरीका

लिंग के आकार को बढ़ाने का एकमात्र वास्तविक तरीका

क्या हम बात कर सकते हैं? चलो खुल कर बात करते हैं: आकार मायने रखता है और हम सब इस
लिंग का सामान्य साइज़ क्या होता है?

लिंग का सामान्य साइज़ क्या होता है?

परिचय। यह एक ऐसा विषय है जिस पर हर आदमी ने कभी न कभी विचार जरूर किया होगा: लिंग का

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *